मिशन और विजन

स्थापना पश्चात इन नौ दशकों में संस्थान ने अपने हितधारकों की बदलती जरूरतों के अनुरूप अनुसंधान और   विकास कार्यों को दिशा देते हुए कपास क्षेत्र के लिये सेवा-सुविधाएं प्रदान की हैं। संस्थान ने कपास चुनाई-पश्च प्रसंस्करण की प्रौद्योगिकियों और मशीनरी के अनुसंधान और विकास को हमेशा अग्र स्थान पर रखा है। संस्थान को विभिन्न प्रकार की कपड़ा सामग्री का परीक्षण तथा परीक्षण पद्धतियों का मानकीकरण और विकास में योगदान देने  के लिए सर्वमान्यता है। वर्तमान में संस्थान केले और नारियल जैसे अन्य प्राकृतिक रेशों के उपयोग से नूतन तकनीकी अनुप्रयोगों में विशेषज्ञता हासिल करने हेतु प्रयत्नशील है तथा गैर-बुना प्रौद्योगिकी, प्राकृतिक रेशा आधारित कंपोजिट विधी में अनुसंधान कार्य कर रही है। नैनो-प्रौद्योगिकी और प्लाज्मा प्रौद्योगिकी के माध्यम से पर्यावरण-स्नेही कपड़ा प्रक्रियाओं को विकसित करने के लिए संस्थान प्रतिबद्ध है और इन ब्रेक-थ्रू प्रौद्योगिकियों पर शोध जारी है। संस्थान का निम्नानुसार विज़न, मिशन और जनादेश है:

विजन

कपास प्रौद्योगिकी में वैश्विक उत्कृष्टता

मिशन

वैज्ञानिक एवं प्रबंधकीय हस्तक्षेपों द्वारा कपास एवं अन्य प्राकृतिक रेशों का कटाई उपरांत प्रसंस्करण एवं मूल्यवर्धन करना तथा उप-उत्पादों के उपयोगीकरण द्वारा अधिकतम आर्थिक, पर्यावरणीय और सामाजिक लाभ प्राप्त करना

अधिदेश

  • कपास और कृषि अपशिष्टों के प्रसंस्करण पर बुनियादी और सामरिक अनुसंधान तथा मूल्यवर्धित उप-उत्पादों का विकास एवं गुणवत्ता निर्धारण
  • कौशल विकास एवं व्यवसाय सृजनन सेवा और कपास रेशों की  रेफरल प्रयोगशाला के रुप में कार्य करना