आंतरिक समिति

आंतरिक समिति का उद्देश्य कार्यस्थल पर महिला कार्मिकों के यौन उत्पीड़न एवं लैंगिक भेदभाव संबंधित प्राप्त शिकायतों पर अनुरुप कार्रवाई एवम रोकथाम, निषेध और निवारण करना है तथा संस्थान के सभी महिला कर्मचारियों के लिए कार्यस्थल में सुरक्षित परिवेश को कायम रखना है। समिति का कार्यकाल 3 वर्ष का है। समिति नियमित अंतराल में बैठकें आयोजित करती है तथा शिकायत की  तात्कालिकतानुसार शीघ्रत:  बैठक आयोजित करती है।

आंतरिक समिति, मुख्यालय, माटुंगा, मुंबई (कार्यकाल: Year 2020 -2023)

  Name of Committee Member Designation
1 डॉ.(श्रीमती) शर्मिला पाटील, वैज्ञानिक, गुणता मूल्‍यांकन एवं सुधार विभाग अध्‍यक्ष
2 डॉ.(श्रीमती) शिल्‍पा चरणकर, पूर्व प्राचार्य, डॉ. बीएनएम कॉलेज ऑफ होम साइंस और कार्यकारी सचिव, सेवा मंडल एजुकेशन सोसाइटी, 338, आर.ए. किदवई मार्ग, माटुंगा, मुंबई बाहरी – सदस्‍य
3 डॉ. पी. एस. देशमुख, प्रधान वैज्ञानिक, प्रौद्योगिकी हस्तांतरण विभाग सदस्‍य
4 डॉ.(श्रीमती) नन्दिता एम. अष्टपुत्रे मुख्‍य तकनीकी अधिकारी, रासायनिक एवं जैव रासायनिक प्रक्रिया विभाग सदस्‍य
5 श्रीमती प्राची आर. म्‍हात्रे वरिष्ठ तकनीकी अधिकारी एवं प्रभारी, पुस्तकालय सदस्‍य
6 श्रीमती सुजाता कोशी, प्रशासन अधिकारी, भा.कृ.अनु.  प- कें.क.प्रौ.अनु.सं., मुंबई सदस्‍य-सचिव 

                                                                                                                       संपर्क करें : ic.circot@gmail.com

संस्थान – आंतरिक समिति की शक्तियां एवं कर्तव्य:

कार्यस्थल पर महिला कार्मिकों के यौन उत्पीड़न एवं लैंगिक भेदभाव संबंधित प्राप्त शिकायतों पर आंतरिक  समिति भा.कृ.अनु.प. , नई दिल्ली द्वारा समय समय पर प्राप्त दिशानिर्देशों के दायरे में कार्रवाई करती है  व  प्रारंभिक जांच रिपोर्ट नियोक्ता / प्रशासनिक प्राधिकारी के समक्ष प्रस्तुत करने का कार्य करती है। आंतरिक समिति कार्यस्थल में लिंग समानता, भेदभाव रहित और यौन उत्पीड़न मुक्त एवं सकारात्मक परिवेश बनाने हेतु महिला यौन उत्पीडन विरोधी नीतियां तथा अन्य उपयुक्त दस्तावेज, कार्यशालाओं, पोस्टरों, विशेषज्ञों के भाषण इत्यादि के माध्यम से जागरूकता बनाए रखती है तथा महिलाओं के लिए  प्रोत्साहनपूर्ण एवं गरिमामय परिवेश बनाये रखने का हरसंभव  प्रयत्न करती है।