संस्थान अनुसंधान परिषद (IRC)

संस्थान में अनुसंधान परियोजनाओं का प्रमुख तकनीकी निगरानी तंत्र है। आईआरसी में संस्थान के निदेशक तथा सभी वैज्ञानिकगण सदस्य होते हैं। आईआरसी की बैठक, सामान्यतया साल में दो बार आयोजित की जाती है जहाँ संस्थान में चल रहे अनुसंधान परियोजनाओं का मूल्यांकन होती है। अर्ध वार्षिक आईआरसी, अप्रैल-सितंबर के दौरान अनुसंधान की प्रगति की समीक्षा करता है; वार्षिक आईआरसी जो अप्रैल से अगले मार्च तक की अवधि के लिए व्यक्तिगत परियोजनाओं की प्रगति की समीक्षा करता है।

संस्थान अनुसंधान परिषद के अधिकार और कार्यशेली

  • नई अनुसंधान परियोजनाओं पर विचार और मूल्यांकन।
  • चलित परियोजनाओं पर विचार और मूल्यांकन।
  • बहु-अनुशासनात्मक परियोजनाओं/बहु-स्थानीय परियोजनाओं के संबंध में समूहों/प्रभागों/संस्थानों के बीच संबंधों को बढ़ावा देने पर सलाह देना।
  • संस्थान के तकनीकी कार्यक्रमों के संबंध में क्विनक्वेनियल रिव्यू टीम (क्यूआरटी) की सिफारिशों पर अनुवर्ती कार्रवाई की निगरानी करें।
  • संस्थान के निदेशक या परिषद् के महानिदेशक द्वारा सोंपे गये किसी भी अन्य कार्य का निष्पादन करना।